सितंबर २०१३

केन्द्र की आयात-निर्यात नीति दोषपूर्ण : भारतीय किसान संघ

भारतीय किसान संघ ने बकाया गन्ना भुगतान न मिलने पर आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा है कि देश में ऐसा पहली बार हो रहा है कि गन्ना मिल माननीय उच्च न्यायालय के आदेशों की भी अवहेलना कर रही हैं।  बाढ़ से पहले से ही सताये हुए किसान अपने गन्ने का भुगतान न दिये जाने के कारण भुखमरी के कगार पर आ पहुंचे हैं और सरकार की ओर से भी कोई राहत नहीं मिल रही है।

भारतीय किसान संघ के महामंत्री श्यामवीर त्यागी ने कहा कि केन्द्र की आयात-निर्यात नीति दोषपूर्ण होने का खमियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है।   सरकार सिर्फ डीज़ल, पैट्रोल, खाद, बीज, दवाई और खाद्यान्नों के दाम बढ़ाये चली जा रही है । उन्होंने कहा कि ये सरकार 2014 में जायेगी पर किसानों को पूरी तरह से बरबाद करके ही जायेगी!   प्रदेश में सांप्रदायिक सद्‌भाव में निरंतर आ रही कमी का दुष्परिणाम गरीब मज़दूर और किसानों को भुगतना पड़ रहा है, उनका ही खून इन दंगों में बहता है।  यह सब तुरन्त बन्द होना चाहिये।

बैठक में पारित प्रस्ताव में कहा गया कि दंगे की निष्पक्ष जांच करके  महिलाओं से छेड़छाड़, गौवंश हत्या आदि  पर प्रभावी रोक लगाने व दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करके ही सरकार व्यापक असंतोष को काबू कर सकती है।   बैठक में जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से प्रतिनिधियों ने भाग लिया जिनमें प्रांतीय उपाध्यक्ष राकेश त्यागी,  जिला अध्यक्ष अरविन्द सिंह, जिला उपाध्यक्ष ठा. राजपाल सिंह, खचेड़ू सिंह, राजेन्द्र फौजी, धर्मेन्द्र पुंडीर , धर्मसिंह सैनी , चौ. ओमपाल सिंह, गीताराम त्यागी, सत्येन्द्र शर्मा, प्रमोद धीमान आदि प्रमुख रहे।

 

थाना चिलकाना में पैट्रोल पंप पर हुई लूट का खुलासा हुआ

19 सितंबर को निम पैट्रोल पंप पर हुई लूट का पुलिस ने खुलासा करने का दावा किया है जिसमें सेल्स मैन मुमताज़ से एक मोबाइल व 92 हज़ार रुपये लूटे गये थे और 35 वर्षीय दिलशाद की हत्या की गई थी।

थाना चिलकाना व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम द्वारा दो अभियुक्त मंसूर पहलवान (पठानपुरा निवासी) और अय्यूब (मछियारान निवासी, थाना कुतुबशेर)  को गिरफ्तार कर लिया गया परन्तु 4 अभियुक्त अकरम, शमशेर, आरिफ फकीर और असलम काला भागने में सफल रहे।

पुलिस पार्टी में श्री परवेज़ आलम, प्रभारी निरीक्षक, चिलकाना, उ.नि. सुशील वर्मा, जगदीश सिंह,  क्राइम ब्रांच के उपनिरीक्षक प्रशान्त कपिल, रविन्द्र चन्द्र पंत, हैड कांस्टेबिल मुबारिक हसन, कांस्टेबिल पुष्पेन्द्र शुक्ला, सुहेल खान, संजय सोलंकी आदि शामिल थे।

इमरान मसूद को सपा प्रत्याशी घोषित करने पर मिठाई बांटी

समाजवादी युवजन सभा के कार्यकर्त्ताओं ने सपा से कांग्रेस में और फिर पुनः कांग्रेस से सपा में आये पूर्व सहारनपुर नगर पालिका चेयरमैन व पूर्व विधायक इमरान मसूद को सपा द्वारा लोकसभा प्रत्याशी घोषित करने पर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का आभार व्यक्त किया और मिठाई बांट कर अपनी खुशी का इजहार किया।

इस अवसर पर शाहरुख खान, अजय उर्फ दीपू, राव अनीश, राजीव सैनी, सचिन, सन्नी कांबोज, शिवम, निखिल, देव, दिग्विजय, प्रवीन कुमार, अभिनव, अनिल, देवेन्द्र चौ.  जितेन्द्र राणा, जमाल साबरी आदि उपस्थित थे।

 

चोरों का आतंक

व्यापारी एसोसियेशन चन्द्रशेखर बाज़ार (कक्कड़ गंज)  ने जनरेटरों के कीमती पुर्ज़ों की लगातार चोरी को लेकर पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही न किये जाने पर आक्रोश जताया और विरोध स्वरूप अपनी दुकानें बन्द कर दीं।    बाद में प्रभारी कोतवाल चावड़ा जी  के चोरों को पकड़ने और सुरक्षा प्रदान करने के आश्वासन पर दुकान खोल दी गईं।

 

कानून व्यवस्था पूरी तरह से चौपट: सुशील सैनी

भाजपा किसान मोर्चे के पूर्व प्रदेश मंत्री  सुशील सैनी ने प्रेस नोट जारी करके प्रदेश सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए दावा किया कि विकास के नाम पर बसपा सरकार के कार्यकाल में सिर्फ बसपा नेताओं ने अपना विकास किया था और अब सपा शासन में डेढ़ वर्ष में ही जनता त्राहि त्राहि करने लगी है।   सड़कें टूट कर पहले से भी बदतर हो गई हैं,  बिजली पानी की गंभीर किल्लत है, चिकित्सा व्यवस्था चौपट है,  जनपद सहारनपुर के अनेक क्षेत्रों में बाढ़ आने के बाद बेघरबार होगये गरीबों को राहत देना तो दूर, उनका दुःख दर्द पूछने की भी मंत्रियों को फुरसत नहीं है जबकि लैपटॉप बांटने की होड़ लगी हुई है।   कानून व्यवस्था पूरी तरह से चौपट होचुकी है, पुलिसवालों से ही उनकी बंदूकें छीनने की वारदातें होने लगें तो आम जनता की दुरवस्था की कल्पना ही की जा सकती है।

उन्होंने कहा कि जिस समय किसान को खेत में मेहनत करनी होती है, वह गन्ने के बकाया भुगतान के लिये धरने पर बैठा हुआ है।   बेरोज़गारों को रोज़गार देने में असमर्थ सरकार लॉलीपॉप दिखा कर खुश करने की चेष्टा कर रही है।

 

महाराजा अग्रसैन जयन्ती की जोरदार तैयारियां

अग्रकुल प्रवर्तक शिरोमणि महाराजा अग्रसैन की जयन्ती  वैश्य समाज प्रति वर्ष बड़े धूम धाम से मनाता है ।  इस वर्ष भी  वैश्य अग्रवाल सभा समन्वय समिति (रजि.) के बैनर तले, जनपद सहारनपुर में सक्रिय अनेकानेक संस्थाएं अग्रसैन जयन्ती समारोह की तैयारियों में जुट गई हैं।

रविवार 29 सितंबर 2013 से शनिवार 5 अक्तूबर तक चलने वाले “महाराजा अग्रसैन जयन्ती समारोह 2013 का विवरण देते हुए  वैश्य अग्रवाल सभा समन्वय समिति (रजि.) के अध्यक्ष आदेश अग्रवाल व कोषाध्यक्ष राजेश गुप्ता ने पत्रकारों को बताया कि सहारनपुर जनपद के 50 से भी अधिक वैश्य अग्रवाल समाज की संस्थायें  समन्वय समिति से सम्बद्ध हैं जो अपने स्थानीय स्तर पर तो जयन्ती कार्यक्रम का आयोजन करती ही हैं, साथ ही समन्वय समिति द्वारा आयोजित किये जाने वाले सप्ताह भर तक चलने वाले जयन्ती समारोह में भी पूरा सहयोग प्रदान करती हैं।

5 अक्तूबर को शोभा यात्रा

शोभायात्रा प्रभारी आलोक अग्रवाल व रमेश तायल ने इस अवसर पर बताया कि  नयी पीढ़ी के युवाओं में प्रति वर्ष निकाली जाने वाली शोभायात्रा को लेकर जबरदस्त उत्साह है ।  प्रातः 10.30 पर अग्रवाल धर्मशाला, गऊशाला रोड़, सहारनपुर से यह शोभायात्रा आरंभ होगी जिसमें हज़ारों  अग्रबंधु, अग्र बहिनें, माताएं व बच्चे सम्मिलित होंगे।  नगर के विभिन्न बाज़ारों को इस अवसर पर तोरण द्वारों से सजाया जायेगा,   शोभायात्रा के मार्ग में जनता निरंतर अपने – अपने घरों की छतों से पुष्पवर्षा करेगी,  विभिन्न धर्मों, संप्रदायों के संगठनों  के पदाधिकारियों द्वारा इस शोभायात्रा का स्थान स्थान पर स्वागत किया जायेगा जो सांप्रदायिक सद्भाव को पुष्ट करता है।   विशेषकर चौक फव्वारे पर जामा मस्जिद के पदाधिकारियों द्वारा भी इस शोभायात्रा का स्वागत किया जाता रहा है।

सप्ताह भर के कार्यक्रम

सांस्कृतिक, सामाजिक कार्यक्रमों की श्रंखला का विवरण देते हुए पत्रकारों को जानकारी दी गई कि रविवार 29 सितंबर को प्रातः 9 बजे  महाराजा अग्रसैन चौक, रेलवे रोड, सहारनपुर पर विराजमान महाराजा अग्रसैन की प्रतिमा के सम्मुख ध्वजारोहण व आरती होगी ।  इसके तुरंत बाद 10.30 पर अग्रवाल धर्मशाला में  ध्वजारोहण व उद्‌घाटन कार्यक्रम है।  अन्य कार्यक्रम इस प्रकार रहेंगे –

30 सितंबर – अपराह्न 3 बजे – रसोई की रानी  /  अग्रकुल मेला (अग्रकुल महिला समिति)

1 अक्तूबर – अपराह्न 3 बजे – तोल मोल के बोल (अग्रवाल महिला मित्रमंडल),

1 अक्तूबर – सायं 7 से  10 बजे तक – गोविन्द भार्गव भजन संध्या  (अग्रवाल युवा मंडल)

2 अक्तूबर –  अपराह्न 3 बजे – फैंसी ड्रेस शो ( बच्चों के लिये) ( अग्रवाल महिला समिति)

2 अक्तूबर –  सायं 7 बजे से  – एन. ए. पाशा का मैजिक शो  (अग्रवाल एकता मंच)

3 अक्तूबर – अपराह्न 3 बजे – देशभक्ति गीत (थीम पर) (वैश्य अग्रवाल महिला समिति)

3 अक्तूबर – सायं 7 बजे से –  सांस्कृतिक संध्या (रंजना नैब प्रस्तुति)

5 अक्तूबर – प्रातः 9 बजे – हवन  तत्पश्चात्‌ शोभायात्रा,  अपराह्न 2.30 पर सहभोज कार्यक्रम

कार्यक्रम के सभी आयोजकों ने  समस्त अग्रकुल से आग्रह किया है कि वे अपने – अपने परिवार को लेकर विशाल अग्रकुल परिवार की भावना को प्रगाढ़ करें तथा सामाजिक समरसता और भ्रातृभाव से समाज को ओतप्रोत करने में संस्था के साथ सहभागिता करें।

 

वैश्य अग्रवाल समाज माधव नगर द्वारा जयन्ती कार्यक्रम 16 अक्तूबर को

पिछले लगभग तीन दशकों से  माधव नगर, न्यू माधव नगर, विष्णुधाम, तिलक नगर आदि क्षेत्रों के अग्रकुल वंशजों  को एकसूत्र में पिरोये रखने में तल्लीन वैश्य अग्रवाल समाज माधव नगर ने इस वर्ष का महाराजा अग्रसैन जयन्ती कार्यक्रम आगामी 16 अक्तूबर को निर्धारित किया है।   कार्यक्रम में वैश्य अग्रवाल परिवारों के उन प्रतिभाशाली बच्चों को सम्मानित करने की भी परम्परा है, जिन्होंने अपने स्कूल, कालेज या कैरियर में कोई विशेष उपलब्धि हासिल की हो !   इसके अतिरिक्त बच्चों की कलात्मक अभिरुचि को प्रोत्साहन देने के लिये कला प्रतियोगिता,  बच्चों के लिये नृत्य प्रतियोगिता, सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता व महिलाओं के लिये मेहंदी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है।

संस्था के अध्यक्ष अनिल गुप्ता,  महामंत्री आदेश जिन्दल व  कोषाध्यक्ष सुनील अग्रवाल ने बताया कि  हाई स्कूल में ए ग्रेड, इंटरमीडिएट में 70 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले अग्रकुल के बच्चों को सम्मानित किया जायेगा जिसके लिये उनको  व अन्य सभी प्रतियोगियों को  बुधवार 9 अक्तूबर तक अपने नाम लिखा देने चाहियें।

संपर्क सूत्र – श्री अनिल गुप्ता (अध्यक्ष) 9319777266    श्री आदेश जिन्दल (महामंत्री) 9412541910

 

निःशुल्क  हृदय रोग जांच शिविर का आयोजन

पश्चिमी उ. प्र. संयुक्त उ. व्या. मंडल, रोटरी क्लब सहारनपुर ग्रेटर, भारत विकास परिषद्‍ सहारनपुर मेन तथा हृदय ज्योति फाउंडेशन नई दिल्ली के संयुक्त प्रयासों से आज होटल पंजाब,  पोस्ट ऑफिस रोड, सहारनपुर में    निःशुल्क  हृदय रोग जांच शिविर का आयोजन का आयोजन किया गया जिसमें  राष्ट्रीय ख्याति के फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल (Fortis Escorts Heart Institute, New Delhi) के कुशल चिकित्सकों ने  हृदय रोगियों की निःशुल्क  जांच कर उनको चिकित्सकीय परामर्श दिया।

इस अवसर पर Fortis के प्रतिनिधि लोकेश कुमार, नेशनल पैथोलॉजी के वरुण चोपड़ा,  व्यापार मंडल के महानगर अध्यक्ष मुकुन्द मनोहर गोयल, रोटरी क्लब सहारनपुर ग्रेटर के पूर्व अध्यक्ष व  प्रोजेक्ट चेयरमैन अजय शर्मा व भारत विकास परिषद मेन, सहारनपुर के प्रोजेक्ट चेयरमैन दीपक गर्ग के अलावा Dr. Z. S. Meharwal, Director of Cardiovascular Surgery, Fortis Escorts Heart Institute व उनकी वरिष्ठ डॉक्टरों की टीम उपस्थित रही।

उल्लेखनीय है कि Fortis Escorts Heart Institute भारत में सबसे तेज बढ़ते अस्पतालों की श्रंखला – Fortis Healthcare का हिस्सा है जो पिछले 22 वर्षों से हृदय की देखभाल के मामले में अपने अलग मानदंड स्थापित कर रहा है।    200 हृदय रोग विशेषज्ञों  की  कुशल देखभाल व  1600 कर्मचारियों के सहयोग से फोर्टिस इंस्टीट्यूट  वर्ष भर में 14,500 मरीज़ों को भरती करता है  जिनमें   7,200 आपात्कालीन मामले भी होते हैं)  ।

Dr. Z. S. Meharwal ने बताया कि भारत में अकेले 1990 में 23,86,000 मृत्यु हृदय रोग के कारण हुई हैं और यह संख्या 2015 तक दुगनी हो जाने की संभावना है और यह सब हमारी विकृत जीवन शैली, तनावपूर्ण जीवन, दूषित खानपान की आदतों के कारण ही है।

 

एड्स के बारे में जागरुकता बाइक रैली का आयोजन

सहारनपुर जनपद की लोकप्रिय मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. रंजना चौधरी, जो  आजकल जनपद में चिकित्सा व्यवस्था में घोर अनियमितताओं के सुधार का बीड़ा उठाये हुए हैं और लगभग रोज़ ही अपने औचक निरीक्षणों व विधिक कार्यवाही के चलते समाचार पत्रों की सुर्खियों में छाई रहती हैं, आज एड्स के बारे में जनजागरुकता हेतु बाइक रैली को हरी झंडी दिखा कर विदा करती दिखाई दीं।   एड्स, यौन रोग व अनचाहे गर्भ से बचने के उपाय के बारे में जन – सामान्य को जागरुक करने के उद्देश्य से इस रैली का आयोजन National Aids Control Organisation व हिन्दुस्तान समाचार पत्र समूह द्वारा किया गया था।

रविकान्त यादव, संचार अधिकारी ने बताया कि शहरी क्षेत्रों में  जनसंख्या की अधिकता के कारण और ग्रामीण क्षेत्रों में स्व्यास्थ सेवाओं व सफाई की कमी के कारण अनेकानेक बीमारियों को पनपने का मौका मिल रहा है।

 

पं. दीन दयाल उपाध्याय जयन्ती

एकात्म मानववाद के प्रणेता प्रखर चिन्तक व पूर्ववर्ती  जनसंघ (वर्तमान भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्व. पंडित दीन दयाल उपाध्याय  के जन्मदिन के अवसर पर भारतीय उपाध्याय समाज ने 25 सितंबर को केक काट कर खुशी मनाई ।

सभा में धर्मपाल, रणधीर, विक्की, अरविन्द, राहुल, नरेशपाल, रविन्द्र, डा. महेन्द्र, मनोज, रामकुमार, बृजपाल, अनिल, अंकुर, विजयपाल, नितिश (सभी उपाध्याय)  आदि सैंकड़ों लोग उपस्थित रहे।

एकात्म मानववाद की अवधारणा

उल्लेखनीय है कि स्व. पं. दीनदयाल उपाध्याय ने अमेरिकी  पूंजीवाद व कार्ल मार्क्स द्वारा प्रतिपादित मार्क्सवाद की कमियों  को पहचानते हुए एकात्म मानववाद की अवधारणा प्रस्तुत की थी जिसमें उन्होंने कहा था कि जहां पूंजीवाद के अन्तर्गत व्यक्ति  समाज का दुश्मन बन जाता है, वहीं साम्यवाद में समाज व्यक्तिगत स्वतंत्रता का हनन कर्त्ता हो जाता है।  ऐसे में भारतीय ऋषि मुनियों ने जो जीवन पद्धति विकसित की उसे हम एकात्म मानववाद कह सकते हैं ।  इसमें व्यक्ति समाज के लिये और समाज व्यक्ति के हित में कार्य करता है और दोनों ही एक दूसरे की  प्रगति में सहयोगी बन जाते हैं।   अमेरिका व अन्य पाश्चात्य देशों द्वारा प्रतिपादित पूंजीवाद में व्यक्ति की स्वतंत्रता को सर्वोपरि माना गया है भले ही वह समाज के हित के विरुद्ध ही क्यों न जा रही हो।   इसी प्रकार साम्यवाद में समष्टि के हित की बात करते हुए व्यक्ति के हित को कुचल दिया जाता है जबकि अनेकों व्यक्तियों से मिल कर ही तो समाज बनता है।  यदि कोई जीवन पद्धति व्यक्ति को समाज का दुश्मन समझेगी तो फिर समाज का प्रत्येक घटक एक दूसरे का दुश्मन ही दिखाई देगा।    यह सब विकृत चिन्तन का परिणाम होगा।

इसके सर्वथा विपरीत भारतीय चिन्तन शैली में माना गया है कि व्यक्ति को जहां अपने विकास व उन्नति की स्वतंत्रता है वहीं दूसरी ओर समाज को भी उससे  अनेकानेक अपेक्षाएं हैं जिनको पूरा करना उसका धर्म है।  ऐसे में व्यक्तिगत धर्म और सामाजिक धर्म के बीच में तालमेल बैठाने की पद्धति का नाम ही एकात्म मानववाद है।    स्व. पंडित दीन दयाल उपाध्याय ने  इस जीवन शैली के आधार पर ही देश की रीति-नीति निर्धारित करने की जिम्मेदारी  तत्कालीन जनसंघ (वर्तमान में भाजपा) को सौंपी थी।   परन्तु हम भारतीय हैं और विदेशी शिक्षण व्यवस्था के अन्तर्गत स्कूल कॉलेज की पढ़ाई करते करते यह मानसिकता विकसित कर लेते हैं कि  हम भारतीय अपनी खुद की जीवन पद्धति विकसित करने में समर्थ नहीं हैं ।  हमें या तो पूंजीवादी रास्ते पर चलना होगा या साम्यवादी रास्ते पर !   जो बात विदेश से अंग्रेज़ी पुस्तकों में लिख कर आई है, उससे बेहतर हम भारतीय भला कैसे सोच सकते हैं?   इसी कारण एकात्म मानववाद भारत की विश्व को सर्वश्रेष्ठ देन होने के बावजूद भारत में ही लोकप्रिय नहीं हो पाया है और भारत के अंग्रेज़ी दां अर्थशास्त्री एकात्म मानववाद की ए, बी, सी, डी भी नहीं जानते  और देश को अपनी  आयातित जानकारी व शिक्षा के आधार पर ही चलाना चाहते हैं।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s