Dental Check up camp to celebrate Shri Shri’ B’day

Saharanpur 13th May :  Saharanpur Chapter of ‘Art of Living’ organisation today celebrated birthday of Shri Shri Ravi Shankar by offering free dental check up to more than 151 people.  Talking to the scribes, B.K. Kamal told that this was a unique style and indeed a great art of living to celebrate birthday of their revered Guru in this manner. Sri-Sri-Ravishankar-2

The founder teachers of Saharanpur Chapter of Art of Living Shalabh Agarwal, Milan Mehta and Ashish Sharma offered floral tributes to the picture of Shri Shri Ravi Shankar and lighted the lamp.  Asit Singhal, President of the Chapter formally inaugurated the health-check up camp by cutting the ribbon.  Various dental surgeons e.g. Dr. Ashima Singhal, Dr. Gargi, Dr. Harminder and Dr. Mitki offered their selfless services to the cause of humanity by conducting dental check ups of more than 151 persons. Free toothpaste and tooth brush were also distributed in the camp.

Art of Living, brought from concept to reality by Shri Shri Ravi Shankar in 1982 has come to be regarded as one of the largest voluntary organisations of the country. It has had favourable impact on the lives of more than 20 million people.  Today, i.e. 13th May is the day when Shri Shri came to this world in 1956 in Tamil Nadu. ‘Sudarshan kriya’ – a simple yet highly effective breathing technique developed by Shri Shri Ravi Shankar is taught and practised in Art of Living camps to help people get rid of stress and various health related problems.

Advertisements

मदर टेरेसा कालिज ने मनाया नाइटिंगेल के जन्म दिन

सहारनपुर – १२ मई ।  नर्सिंग जैसे सेवाभावी व्यवसाय की शिरोमणि मानी जाने वाली फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म दिन प्रति वर्ष नर्सिंग डे के रूप में मनाया जाता है।  हाथ में प्रकाश लिये मरीज़ों की सेवा करती हुई फ्लोरेंस नाइटिंगेल की छवि किसी भी मरीज़ के हृदय में आशा का संचार कर देने के लिये काफी है। सेवा की साक्षात्‌ प्रतिमूर्ति फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म दिन मदर टेरेसा नर्सिंग स्कूल व हॉस्पिटल में भी यदि नहीं मनाया जायेगा तो और कहां मनाया जायेगा?

कार्यक्रम का शुभारंभ संस्था के अध्यक्ष डा. एस. एस. राणा, पलक राणा, शशि राव, निर्मल व श्रीमती अनूप कुमारी ने मां सरस्वती और मिस फ्लोरेंस नाइटिंगेल की प्रतिमा के समक्ष संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके किया।   इस अवसर पर अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया।  जहां सरस्वती वन्दना प्रस्तुत करते हुए विशाखा ने कार्यक्रम को आरंभ किया, वहीं मेघा, ललिता, सोनम ने पंजाबी गाने पर समूह नृत्य प्रस्तुत कर कार्यक्रम को एक नया मोड़ दिया।  बबीता रानी ने अठ्ठरा बरस की गाने पर धमाल मचाया तो रूबी कमाल और गौरव कुमार ने ज़ूबी – ज़ूबी गाने पर सबको झूमने पर विवश कर दिया।  ’डांस पे चांस मार ले’ गाने पर नृत्य करके दिव्या शर्मा ने सब की वाहवाही लूटी।

नृत्य संगीत के दौर के बाद कार्यक्रम को गंभीरता प्रदान करते हुए डा. एस. एस. राणा ने फ्लोरेंस नाइटिंगेल के जीवन चरित्र का परिचय दिया। उन्होंने बताया कि फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म इटली के एक धनाढ्य परिवार में १२ मई १८२० को हुआ था और १७ वर्ष की आयु तक पहुंचते पहुंचते उन्होंने अनुभव कर लिया था कि उनके जीवन का सर्वप्रमुख उद्देश्य मरीज़ों की सेवा करना ही है।  उन्होंने नर्सिंग स्कूल की भी स्थापना की।

Identify these and Earn Prize

Hi Friends,

Here is an opportunity for you to test your knowledge of Saharanpur.  We are giving below some pics.  You have to identify the people / place / locality from these pictures.  There are attractive prizes to be won by the winners.

Terms and conditions

  1. Last date for submission of your answers is 15 May, 2013.
  2. Your answers must be submitted on this website http://www.saharanpuronline.com by way of comment below.
  3. Please tell us your FULL NAME, MOBILE NO,  PROFESSION, ADDRESS and Email ID also.   Results of this Photo Quiz will be intimated to you via SMS and Email ID.
  4. There are three prizes for the winners who submit all answers correctly.  1st, 2nd and 3rd prizes would be declared on the basis of early submission of correct answers.  Earliest correct answers will get 1st prize.
  5. Replying on Facebook by way of comment will disqualify you for this Picture Quiz.  Even if your answer is correct on Facebook, you won’t get any prize.

1st Prize – Rs. 500/-

2nd Prize – Rs. 250/-

3rd Prize – Rs. 101/-

All of these prizes have been sponsored by the budding theatre activist of Saharanpur Shri Sanjeev Bajaj, BAJAJ OPTICIANS, Nr. Collectorate, Saharanpur.

Editor

The Saharanpur Dot Com

http://www.thesaharanpur.com

प्रिय मित्रों,

यहां आज आपके लिये स्वर्णिम अवसर है कि आप सहारनपुर के बारे में अपनी घनघोर जानकारी से हम सब को परिचित करा सकें।   आपको इन चित्रों को देख कर पूछे गये प्रश्न का उत्तर सही उत्तर देना है।  जो  पाठक सभी प्रश्नों का सही उत्तर दे पायेंगे, उनको पुरस्कृत किया जायेगा ।

प्रतियोगिता के नियम व शर्तें निम्न प्रकार से हैं –

  1. आपके जवाब हमें अधिकतम 15 मई तक मिल जाने चाहियें ।
  2. आपके उत्तर हमें http://www.saharanpuronline.com  पर, यानि इस पोस्ट के अन्त में कमेंट के रूप में ही मिलने चाहियें !
  3. आप अपना पूरा नाम, पता, मोबाइल नंबर, व्यवसाय व ई-मेल आई डी अवश्य लिख कर भेजें ।  प्रतियोगिता के परिणाम आपको एस.एम.एस. व ई-मेल द्वारा भेजे जायेंगे।
  4. सभी प्रश्नों के सही उत्तर देने वाले प्रतियोगियों को तीन पुरस्कार दिये जायेंगे ।   सबसे पहले सही उत्तर देने वाले प्रतियोगी को प्रथम पुरस्कार,  उसके बाद प्राप्त होने वाले सही उत्तर को द्वितीय पुरस्कार और तीसरे नंबर पर सही उत्तर देने वाले प्रतियोगी को तृतीय पुरस्कार दिया जायेगा।
  5. फेसबुक पर कमेंट के रूप में उत्तर देना मना है।   जो प्रतियोगी फेसबुक पर कमेंट के रूप में उत्तर भेजेंगे, उनको पुरस्कार से वंचित कर दिया जायेगा।

1st Prize – Rs. 500/-

2nd Prize – Rs. 250/-

3rd Prize – Rs. 101/-

 

ये सभी पुरस्कार सहारनपुर के उदीयमान रंगकर्मी श्रीयुत्‌ संजीव बजाज,  बजाज ऑप्टीशियन,  निकट कलक्ट्रेट के सौजन्य से दिये जा रहे हैं।

संपादक,  द सहारनपुर डॉट कॉम

http://www.thesaharanpur.com

Where is this temple in Saharanpur?

Picture No. 1  :  Where is this temple in Saharanpur?

Where is this pillar constructed?

Picture No. 2  :  Where is this pillar constructed?

What place is this?

Picture No. 3  :   What place is this?

The stone mentions inauguration of something.  What was inaugurated?

Picture No. 4 :  Where is this stone affixed and for what?

Where is this auditorium in Saharanpur?

Picture No. 5 :  Where is this auditorium in Saharanpur?

What occasion is this and where?

Picture No. 6 :  What occasion is this and where?

Whose oil painting is this?

Picture No. 7  :   Who is this old lady?

Welcome to Literary World Dr. Banerjee

सहारनपुर २१ अप्रैल ।   दिल्ली रोड स्थित एक सभागार में आयोजित  आई.एम.ए. के वार्षिक सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए द सहारनपुर डॉट कॉम के संस्थापक संपादक सुशान्त सिंहल ने  सहारनपुर के प्रख्यात बालरोग विशेषज्ञ डा. विवेक बैनर्जी,  के अंग्रेज़ी कथासंग्रह ’शेड्स ऑफ सिन’ का लोकार्पण करते हुए कहा कि  डा. विवेक बैनर्जी ने उपन्यासकार और कथाकार के रूप में स्वयं को सफलतापूर्वक स्थापित कर के यह सिद्ध कर दिया है कि वह एक ऐसे बहुआयामी चिकित्सक हैं जो अपनी चिकित्सकीय योग्यता के बल पर बच्चों के शारीरिक रोग दूर कर रहे हैं और अपनी लेखन क्षमता के सहारे समाज में व्याप्त सामाजिक बुराइयों को दूर कर रहे हैं।  उन्होंने कहा कि डा. विवेक बैनर्जी ने जो विषय अपनी कथाओं के लिये उठाये हैं, वह बहुत साहस पूर्ण कार्य है। Continue reading

पंचकल्याणक महोत्सव हेतु मंगलाचार

जागृतिकारी संत उपाध्याय श्री १०८ नयनसागर जी महाराज

जागृतिकारी संत उपाध्याय श्री १०८ नयनसागर जी महाराज

सहारनपुर : १७ अप्रैल : संपूर्ण जैन समाज ने २२ अप्रैल से २८ अप्रैल २०१३ तक चलने वाले जिनबिंब पंचकल्याणक मानस्तंभ प्रतिष्ठा महोत्सव की तैयारियां जोर-शोर से आरंभ कर दी हैं।  Continue reading